Currency
Call Us at +91 - 7234 999 901 or Mail Us at enquiry@mycoursebook.in Cash On Delivery Available Across India over 20,000 + Pincodes and increasing daily
My Cart

Madhyakalin Bharat (Medieval India) | LP Sharma - Lakshmi Narain Agarwal

In stock
SKU

MCB-816

Special Price ₹363.00 Regular Price ₹425.00

  • Binding: Paperback

  • Pages: 741

  • Language: Hindi

  • ISBN-10: 978-81-89770-19-8

  • ISBN-13: 978-81-89770-19-8

Content: 

इस पुस्तक की विषय सूची इस प्रकार है-

तुर्क-अफगान काल
1. मध्यकालीन-भारतीय इतिहास के स्त्रोत 2. भारत पर अरबों का आक्रमण 3. 11वीं और 12वीं सदी में तुर्कों के आक्रमण और तुर्कों के राज्य की स्थापना (महमूद गजनबी और मुहम्मद गोरी), उत्तरी भारत में दिल्ली सल्तनत की नींव, कारण और परिस्थितियाँ, तुर्कों की सफलता के परिणाम, भारतीय समाज पर प्रभाव 4. कुतुबुद्दीन ऐबक और आरामषाह 5. सुल्तान इल्नुतमिष (1211-1236 ई.) 6. सुल्तान इल्नुतमिष के उत्तराधिकारी (सुल्तान और तुर्कों गुलाम-सरदारों के गुट (तुर्कान-ए-चिहालगानी) में राज्य-षक्ति के लिए संघर्ष: 1236-1265 ई.) 7. गियासुद्दीन बलबन (1265-1287 ई.) (बलबन का राजस्व सिद्धान्त) कैकुबाद और क्यूमर्स (1287-1290 ई.) 8. जलालुद्दीन फीरोजषाह खलजी (1290-1296 ई.) 9. अलाउद्दीन खलजी (1296-1316 ई.): (खलजी साम्राज्यवाद) 10. कुतुबुद्दीन मुबारक खलजी और खलजी-वंष का पतन (1316-1320 ई.) 11. गियासुद्दीन तुगलक (1320-1325 ई.) 12. मुहम्मद-बिन तुगलक (1325-1351 ई.) (प्रषासकीय परिवर्तन) 13. फीरोजषाह (तुगलक) (1353-1388 ई.) 14. फिरोजषाह के उत्तराधिकारी और तुगलक-वंष का पतन (1388-1414 ई.) (तुगलक वंष (दिल्ली-सल्तनत) के विघटन तथा पतन के कारण) 15. विभिन्न सैययद सुल्तान (1414-1450 ई.) 16. विभिन्न लोदी सुल्तान (1450-1526 ई.) 17. प्रान्तीय राज्य 18. मंगोल-आक्रमण और सुल्तानों की उत्तर-पष्चिम सीमा नीति 19. शासन व्यवस्था (राज्य का स्वरूप) 20. सभ्यता तथा संस्कृति: समाज, आर्थिक दषा, धार्मिक दषा, साहित्य, स्थापना अथवा भवन निर्माण-कला, संगीत-कला तथा चित्रकला।

मुगल काल
1. बाबर (1526-1530 ई.) (आत्मकथा और भारत-विवरण) 2. हुमायँू (1530-1556 ई.) 3. शेरषाह सूर और उसके उत्तराधिकारी (1540-1555 ई.) 4. अकबर महान् (1556-1605 ई.) (अकबर एवं राष्ट्रीय सम्राट अकबर के अधीन राजवंष का स्वरूप, अकबर के धार्मिक और राजनीतिक विचार, गैर-मुस्लिमों के साथ सम्बन्ध) 5. जहाँगीर (1605-1627 ई.) 6. शाहजहाँ (1627-1658 ई.) (मुगल-काल का स्वर्ग-युग) 7. औरंगजेब (1658-1707 ई.) 8. मराठा-षक्ति का उत्कर्ष (1627-1707 ई.) 9. मुगल-साम्राज्य का विघटन 10. मराठा-षक्ति का विस्तार और प्रथम तीन पेषवा (1707-1761 ई.) (मराठा-राज्य एवं संघ का अविर्भाव, चैथ और सरदेषमुखी) 11. मुगल-बादषाहों की विभिन्न महत्वपूर्ण नीतियाँ 12. मुगल-षासन व्यवस्था (केन्द्रीय शासन, मुगल कारखाना, प्रान्तीय शासन, सैनिक शासन (मनसबदारी-व्यवस्था) वित्त और लगान-व्यवस्था, मुद्रा और टकसाल, न्याय, तोल और माप के पैमाने) 13. मुगल सभ्यता और संस्कृति (आर्थिक-स्थिति-कृषि, उद्योग, व्यापार और वाणिज्य, मुगल और यूरोपीय व्यापारिक कम्पनियों, शहरी केन्द्रों का विस्तार, बैंकिंग-व्यवस्था: सामाजिक स्थिति, हिन्दू-मुस्लिम सम्बन्ध, एकीकरण की प्रकृति, 16वीं से 18वीं सदी के सन्दर्भ में षिक्षा, साहित्य, कला-स्थापत्य कला, चित्रकला) 14. 18वीं सदी में भारत की स्थिति 15. मुगल-साम्राज्य की सफलताएँ एवं असफलताएँ

Write Your Own Review
You're reviewing:

Madhyakalin Bharat (Medieval India) | LP Sharma - Lakshmi Narain Agarwal


Your Rating